Sunday, June 3, 2018

Who am I?

Skeleton remains from Harappa (National Museum Delhi)

The biggest myth of this world is the notion of which place, nation, caste or religion I belong to. Let me ask you to trace your roots. Are you Indian or Australian or Chinese or belonging to one of the European countries or an American? Ok, let's change the question. Which religion you belong to? Pop will come an answer and the sound of that word has no meaning if you think deeply about that. Why am I saying so? 

मेहनत का कायल

उम्मीद उसी से होती है जो
मेहनत का कायल होता है।
वरना महलों के ख्वाब दिखाकर
दम भरने वाले बहुत देखे हैं।

Friday, May 25, 2018

हसीन फ़साना

ईमान आबरू सब बहुत कीमती थे 
बड़े सहेज के हमने संभाल  के रखे थे 
फिर एक दिन उनका भी खरीददार मिल गया 
जो एक बार बिका तो बिकता ही चला गया 

Monday, May 21, 2018

राजनीति

हिम्मत है तो तू बना सरकार 
नहीं, तो है तुझ पर धिक्कार 
कुबेर की पोटली खुली है 
उठा धन और बन जा मक्कार 

समझ का फेर

हर तरफ धुआं फैला है 
मैं उसे आसमान समझ बैठा 
जिंदगी को खत्म कर देती है मौत 
मैं उसे निर्वाण समझ बैठा 

Sunday, May 20, 2018

कठपुतलियाँ

कभी आपने कठपुतलियों का नाच देखा है। 
इंसान उँगलियों में धागा लपेटे 
एक रंगीन दुनिया बनाता है 
जहाँ अक्सर सब खुश रहते हैं 
अगर दुःख हो तो भी अंत तक आते आते 
सब सुखद और मंगलमय हो जाता है 

Saturday, May 19, 2018

The world

It's a strange strange world
For no reason
It gives a different life
To all around