Friday, August 17, 2018

वो अटल

वो अटल था वो  रहेगा अटल
भीनी मुस्कान चरम मनोबल 
काल के कपाल पर वो लिखता था 
लिखता था और मिटाता था 

वो डरता नहीं ना डराता था 
हर सुदामा का कृष्ण बन जाता था 
जिन्दादिल रही उसकी जिंदगी 
मौत को भी सखा बना डाला 

काल अपने को फिर दोहराये 
कपाल पर फिर लेखनी चलाये 
और उसे फिर कोई मिटाये 
वो अटल होगा वो  रहेगा अटल

No comments:

Post a Comment