Monday, March 16, 2015

फ़ितरत

मैं फ़ितरत का आदी हूँ
फ़ितरत बदलना मेरा फन नहीं
समंदर की गहराइयाँ मैं नापूँगा
आसमान की ऊचाईयाँ मैं छूऊँगा
फ़ितरत बदलना मेरा फन नहीं
मैं फ़ितरत का आदी हूँ

No comments:

Post a Comment